अधिकतर देवी-देवताओं के मंदिर पहाड़ों पर क्यों बने हैं ?

पहाड़ों का क्षेत्र बहुत ही रम्य-सुरम्य होता हैं l वह का वातावरण बहुत सुन्दर होता हैं l पहाड़ी क्षेत्रों में ऊँचे-ऊँचे पेड़-पौधे और सुन्दर पुष्पों से क्षेत्र की सुंदरता और अधिक बढ़ जाती हैं l पहाड़ों के ऊँचे टीले आदि देखकर मन प्रसन्न हो जाता है l ऐसे सुन्दर मनोरम स्थान पर देवी-देवताओं का वास हो तो दर्शनार्थी (दर्शन करने वाले का) मन वह सुन्दर दृश्य देखकर पहले ही प्रसन्न हो जाता है उसके बाद मंदिर में प्रवेश करने पर पूर्ण शांति मिलती है l चहल-पहल और पापमय जिंदगी से दूर पहाड़ी क्षेत्र में लोग शांति के लिए जाते हैं और वह देवी-देवताओं का दरबार हो तो बात ही निराली है l देवी-देवता मनुष्यों से दूर नहीं रहना चाहते बल्कि उन्हें एकांत में बुलाकर शांति प्रदान करने का मार्ग प्रदान करते हैं l जहाँ चारों तरफ चिल-पों होती रहेगी तो वहाँ देवी-देवता का ध्यान या पूजा करने हेतु आप चाहकर भी अपने मन को एकाग्र नहीं कर सकते l मन की एकाग्रता के लिए एकांत स्थान ही उत्तम होता है l पूर्वकाल में ऋषि-महर्षि भी पहाड़ों की कंदराओं और वनों में रहकर तप करते थे l

Our best Service’s :- 

  1. Love problem solution baba ji
  2. Divorce problem solution
  3. Love problem solution in USA
  4. Love marriage specialist astrologer
0 replies

Leave a Reply

Want to join the discussion?
Feel free to contribute!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *